News and events

Do you connect with GOD ! ! !

Since time immemorial this paradox has been daunting our grey mater……..Where is GOD?? Some call him Brahma, Vishnu, Shiva for others he smiles as lord Christ, for few he is the mighty Allah yet for others the holy gurus! But have we ever thought has ever anyone seen any of these forms? But surely all of us have seen a child blossoming inside a mother’s womb, a seedling growing in a plant and later a huge shadowy tree, a bird heating it’s eggs before hatching, a river emerging from a waterfall ,a rainbow cascading rainy blue sky…….first cry of a baby after detaching from the umbilical cord!!In all these instances and many more lies GOD! God is that supreme power who does not require any form or any name nor any divisions. He is the one who lies within us….within the deepest folds of our heart and psyche! There is a famous tale stating conversation between god and man before...
Read more

एटीएम से निकलने लगे दो हजार के नोट

मुजफ्फरपुर। एसबीआइ बैंक की एटीएम से शुक्रवार को दो हजार रुपये के नोट मिलने लगे। इसे देख लोगों काफी खुश नजर आए। अब खुदरे की चिंता होने लगी है। कोई दुकानदार दो-तीन सौ का सामान लेने पर खुदरा देगा या नहीं। http://www.jagran.com/bihar/muzaffarpur-atm-started-coming-from-two-thousand-notes-15060243.html...
Read more

छठ पूजा त्यौहार की व्रत, कथा एवं महत्व

भगवान सूर्य नारायण को हमारे धर्म ग्रंथों में प्रत्यक्ष देवता माना गया है। संसार के हर प्राणी के जीवन स्त्रोत सूर्य हैं. सूर्य के बिना हम इस धरती पर जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते। सूर्य की साधना से ही आध्यात्मिक ऊर्जा की तलाश पूरी होती है। भगवान सूर्य के प्रति आस्था प्रकट करने के लिए ही सूर्य षष्ठी व्रत रखा जाता है। ये व्रत छठ माता की पूजा के नाम से भी जाना जाता है। सूर्यदेव को शाम को जल और दूध का अर्घ्य समर्पित किया जाता है। कार्तिक शुक्ल षष्ठी को संपन्न होने वाला सूर्य-षष्ठी व्रत, छठ उत्तर-भारत सहित देश के दूसरे कई हिस्सों में मनाया जाता है. वास्तव में, सूर्य को समर्पित ये व्रत सूर्य-साधना का ही स्वरूप है. छठ के अवसर पर भगवान...
Read more

धनतेरस 2016 पूजा

धनतेरस पर पूजा का विशेष महत्व होता है। इस दिन लक्ष्मी – गणेश और कुबेर की पूजा की जाती है। पर इस दिन सबसे महत्वपूर्ण पूजा होती है स्वास्थ्य और औषधियों के देवता धनवन्तरी की। इन सभी पूजाओं को घर में करने से स्वास्थ्य और समृद्धि बनी रहती है। इस दिन लोग अपने स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए कामना करते हैं। इसके लिए इस दिन धनवन्तरी की पूजा की जाती है। इसके लिए अपने घर के पूजा गृह में जाकर ॐ धं धन्वन्तरये नमः मंत्र का 108 बार उच्चारण करें। ऐसा करने बाद स्वास्थ्य के भगवान धनवंतरी से अच्छी सेहत की कामना करें। ऐसी मान्यता है कि इस दिन धनवन्तरी की पूजा करने से स्वास्थ्य सही रहता हैा धनवन्तरी की पूजा के बाद यह जरूरी है कि लक्ष्मी और गणेश का पूजन किया जाए। इसके लिए सबसे पहले गणेश जी को दिया अर्पित करें और धूपबत्ती चढ़ायें। इसके बाद गणेश जी के चरणों में फूल अर्पण करें और...
Read more